Movie prime

Free VISA: विदेश घूमने का है प्लान,  श्रीलंका-थाइलैंड के बाद अब इस देश में भी भारतीयों की वीजा-फ्री एंट्री

​​​​​​​

Free VISA: Plan to travel abroad, after Sri Lanka-Thailand, now visa-free entry for Indians in this country too

 
Free VISA
Whatsapp   JOIN US                               
Telegram                                               JOIN US
Google News  JOIN US

भारतीयों के लिए एक और अच्छी खबर! अब भारतीय बिना वीजा के दूसरे नए देश में जा सकेंगे। अब भारतीयों को इस देश में प्रवेश के लिए सिर्फ पासपोर्ट की जरूरत होगी।

जी हां, मलेशिया ने रविवार को घोषणा की कि अब भारतीय नागरिकों को 30 दिन की वीजा-मुक्त यात्रा की सुविधा दी जाएगी। इसका मतलब यह है कि किसी भी भारतीय नागरिक को 30 दिनों तक मलेशिया जाने के लिए वीजा की जरूरत नहीं होगी।

malaysia free visa india

मलेशिया के प्रधानमंत्री अनवर इब्राहिम ने कहा कि चीनी नागरिकों की तरह भारतीय नागरिकों पर भी वीजा मुक्त प्रवेश नियम लागू होंगे। आपको बता दें कि इससे पहले श्रीलंका और थाईलैंड ने भी भारतीयों को वीजा फ्री एंट्री की सुविधा दी थी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत से पहले मलेशिया ने सऊदी अरब, बहरीन, कुवैत, यूएई, ईरान, तुर्की और जॉर्डन को यह सुविधा प्रदान की थी। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि ये सभी मुस्लिम देश हैं।

मलेशिया ने भारतीय और चीनी नागरिकों के लिए 30 दिनों के वीज़ा मुक्त प्रवेश की घोषणा की है। यह नीति 1 दिसंबर से लागू होने जा रही है. श्रीलंका और थाईलैंड पहले ही इसकी घोषणा कर चुके हैं.

चीनी-भारतीय नागरिक मलेशिया में बिना वीज़ा के 30 दिनों तक रह सकते हैं

malaysia free visa india

अनवर इब्राहिम ने कहा कि इस छूट के तहत चीनी और भारतीय नागरिक मलेशिया में 30 दिनों तक बिना वीजा के रह सकते हैं। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि मुफ्त वीजा प्रवेश कितने समय तक प्रभावी रहेगा।

इसी साल अक्टूबर में श्रीलंका ने एक पायलट प्रोजेक्ट के तहत भारत, चीन और रूस समेत 7 देशों के लिए वीजा फ्री एंट्री शुरू की है. अगर कोई भारतीय नागरिक 31 मार्च 2024 तक श्रीलंका जाने की योजना बना रहा है, तो वह इस पहल का लाभ उठा सकता है।

यह भी देखें--  ब्रह्मकुमारी आश्रम में सगी बहनों ने फांसी लगाने से पहले लिखी आपबीती, पढ़कर हिल जाएंगे आप

मलेशिया की ओर से भारत के साथ रिश्तों को लेकर भी बड़ी बात कही गई है. मलेशिया के प्रधानमंत्री ने कहा कि हर मोर्चे पर भारत का सहयोग जरूरी है. आसियान-भारत मीडिया एक्सचेंज कार्यक्रम के दौरान मलेशिया में भारत के उच्चायुक्त बीएन रेड्डी ने कहा कि मलेशिया के साथ संबंध काफी मजबूत रहे हैं. दोनों देशों को सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ने की जरूरत है। दोनों देशों के बीच राजनीतिक संबंधों के 65 साल पूरे हो गए हैं. 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मलेशिया यात्रा के बाद दोनों देशों के रिश्ते और मजबूत हुए हैं.

यह भी देखें-- बॉलीवुड का अगला बड़ा सुपरस्टार हो सकते हैं मंदाकिनी के बेटे, PHOTOS देख फैंस बोले-रणबीर-रणवीर से भी हैं हैंडसम