Movie prime

Railway News:  यूपी के लोगों की बल्ले बल्ले, आसान होगा नैनीताल की वादियों में घूमना, पहली बार होगी काठगोदाम के लिए सीधी ट्रेन

Railway News: People of UP are happy, it will be easy to roam in the valleys of Nainital, for the first time there will be a direct train to Kathgodam.

 
Railway News
Whatsapp   JOIN US                               
Telegram                                               JOIN US
Google News  JOIN US

Railway News: गोरखपुर से काठगोदाम जाने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। पीलीभीत से शाहगढ़ तक 20 किमी मीटर गेज लाइन को ब्रॉड गेज में बदलने का 80 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। दिसंबर 2023 तक बाकी काम भी पूरा हो जाएगा. इसके पूरा होते ही गोरखपुर से काठगोदाम (Nainital) तक एक और लाइन उपलब्ध हो जाएगी। इस रूट के खुलने से पूर्वोत्तर रेलवे को दूसरे रेलवे पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। पूरा रूट NE Railway के अधिकार क्षेत्र में है, इसलिए बोर्ड से अनुमति लेने के बाद ही इसे अपने समय और तारीख के अनुसार चलाया जा सकता है।

प्रयागराज से नैनीताल तक का सफर होगा आसान

Railway News

गौरतलब है कि इसके प्रस्तावित रूट में कई ऐसे स्टेशन भी शामिल हैं जिनकी अभी तक प्रयागराज से सीधी रेल कनेक्टिविटी नहीं है। कासगंज, बदायूँ, लालकुआं, हलद्वानी स्टेशन मुख्य रूप से शामिल हैं। अभी प्रयागराज के लोगों को काठगोदाम जाने के लिए लखनऊ या बरेली, रामपुर जाकर ट्रेन पकड़नी पड़ती है। नैनीताल के नजदीक होने के कारण प्रयागराज से काठगोदाम तक सीधी ट्रेन की मांग होती रही है।

इसी वजह से सांसद केशरी देवी पटेल ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को पत्र लिखकर काठगोदाम के लिए सीधी ट्रेन चलाने की मांग की है. ट्रेन को प्रयागराज से फतेहपुर, कानपुर सेंट्रल, कानपुर अनवरगंज, कन्नौज, फर्रुखाबाद, कासगंज, बदांयू, बरेली सिटी, इज्जत नगर, लालकुआं, हलद्वानी होते हुए काठगोदाम तक चलाने की मांग की गई है। इस रेल मार्ग से प्रयागराज से काठगोदाम की दूरी करीब 650 किलोमीटर होगी.

एनईआर अपनी सुविधा के अनुसार ट्रेनें चला सकेगा

Railway News

यह भी देखें--रणबीर कपूर की फिल्म 'एनिमल' का टीज़र हुआ रिलीज़ , खतरनाक लुक में दिखे रणबीर , बॉबी देओल की एक्टिंग ने लूटी तारीफ ...

अभी गोरखपुर से काठगोदाम तक ट्रेनें बरेली होकर जाती हैं। एनईआर ने जब भी उत्तर रेलवे से गोरखपुर से काठगोदाम तक ट्रेन चलाने के लिए रास्ता मांगा तो उसने रूट व्यस्त होने का हवाला देकर इनकार कर दिया। ऐसे में गोरखपुर-काठगोदाम वाया पीलीभीत रूट खुलने से यह समस्या खत्म हो जाएगी। एनई रेलवे अपनी सुविधा के अनुसार इस रूट पर चलने वाली ट्रेनों की समय सारिणी तैयार कर सकेगा।

यह भी देखें-- Chanakya Niti tips: इन लोगों के घर में मां लक्ष्मी का वास नहीं होता, जानें क्‍या कहती है चाणक्‍य नीति