Movie prime

राम मंदिर बनने में अब तक खर्च हो गए ₹1000 करोड़ , देशभर से कितना आया है चढ़ावा? जानिए 

₹1000 crore has been spent so far in building Ram temple, how much has been donated from across the country? Learn

 
df
Whatsapp   JOIN US                               
Telegram                                               JOIN US
Google News  JOIN US

22 जनवरी को राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम पूरा हो चुका है, प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में बॉलीवुड और साउथ के बड़े सुपरस्टार भी इसमें शामिल हुए थे वहीं इस कार्यक्रम में देश के बिजनेसमैन मुकेश अंबानी, नीता अंबानी भी शामिल हुए थे. अभी मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा है उम्मीद जताई जा रही है कि 2025 तक राम मंदिर का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा लेकिन क्या आपको पता है कि अब तक मंदिर बनने में कितने रुपए खर्च हो चुके हैं ? मंदिर की ट्रस्ट की तरफ से अब इस बारे में जानकारी दे दी गई है आईए जानते हैं कि राम मंदिर निर्माण में अब तक कितना रुपया खर्च हुआ है और कितना दान किया जा चुका है? 

1000 करोड़ से ज्यादा हुए खर्च

df

आपको बता दे कि इस समय पर राम मंदिर ट्रस्ट की बैंक खाता तीन पीएसयू बैंक में है, जिम बैंक ऑफ़ बड़ौदा , स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया और पंजाब नेशनल बैंक शामिल है खबरों के अनुसार मंदिर ट्रस्ट की तरफ से कुछ समय पहले यह जानकारी शेयर की गई थी जिसमें बताया गया की मार्च 2023 के आखिर तक बैंक खातों में कुल जमा राशि 3,000 करोड रुपए है वहीं ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण के लिए 1,000 करोड़ से ज्यादा रुपए खर्च कर दिए हैं. 

BoB में जमा है मंदिर का सबसे ज्यादा पैसा

वही बैंक ऑफ़ बड़ौदा में ट्रस्ट की सबसे बड़ी राशि जमा है बैंक ऑफ़ बड़ौदा की अयोध्या में करीब 35 शाखा है जिनमें से एक मंदिर परिसर की बहुत ही करीब है इसके अलावा ट्रस्ट के पास बैंक आफ महाराष्ट्र और भी अन्य पीएसयू बैंकों में पैसा जमा किया गया है. 

अयोध्या बनेगा बड़ा टूरिज्म पैलेस

sd

इकोनामिक टाइम्स की खबर के अनुसार एक बैंकर ने जानकारी दी है कि आने वाले दिनों में अयोध्या एक बड़ा टूरिज्म प्लेस बन जाएगा वही मंदिर को मिलने वाली राशि में भी इजाफा होगा आगे उन्होंने बताया कि राम मंदिर का दान जल्द ही तिरुपति बालाजी और सिद्धिविनायक जैसे अन्य मंदिरों की लीग में शामिल हो जाएगा. 

विदेशों से दान स्वीकार करने की इजाजत

राम मंदिर का फैसला फरवरी 2020 में सुप्रीम कोर्ट के द्वारा किया गया था इस फैसले के बाद से विदेशी योगदान विनियम अधिनियम (FCRA) के तहत राम मंदिर को विदेशों से भी दान मिलना स्वीकार कर लिया गया है एक वेबसाइट भी जारी कर दी गई है जहां पर कर कोड को स्कैन करके पेमेंट के आप्शन उपलब्ध है यह वेबसाइट  https://srjbtkshetra.org/donation-options/ है.

यह भी देखें--Disha Patani : दिशा पाटनी ने शेयर की पानी में भीगती हुई तस्वीरें , बोल्डनेस देखकर लोग नहीं हटा रहे अपनी निगाहें