Movie prime

पेट्रोल पंप पर 100,200 और 500 रुपये का भरवाते समय इस तरह लगाया जाता है चूना , जान लीजिये ... 

This is how lime is applied while refilling Rs 100,200 and Rs 500 at the petrol pump, know this...

 
sd
Whatsapp   JOIN US                               
Telegram                                               JOIN US
Google News  JOIN US

हमारे देश में लोग पेट्रोल या डीजल भरवाते समय पर इन बातों का ध्यान रखते हैं कि 110 और 220 का पेट्रोल या डीजल भरवाते हैं, लोग ऐसा मानते हैं कि ऐसा करने से पेट्रोल या डीजल भरवाते समय पेट्रोल पंप पर लोगों के साथ में ठगी नहीं होगी. लेकिन क्या यह सच है कि 100 की जगह पर 110 या 120 का पेट्रोल भरवाने पर ठगी होती है या नहीं ये सब आज हम इस आर्टिकल में जानने वाले हैं। 

दरअसल में पेट्रोल पंप पर एक कोड सेट किया जाता है जिसमें 100, 200, 500, 1,000, 1,500 और 2,000 तक पेट्रोल और डीजल भरवाने के लिए एक बटन सिस्टम सेट कर दिया जाता है, जिसकी वजह से बार-बार नंबर नहीं डालना पड़ता. ऐसा करने से लोगों को यह लगता है कि इन नंबरों में कुछ सेटिंग कर दी गई है और हमारे साथ ठगी हो रही है. 

फ्लो मीटर में छेड़छाड़

sds

पेट्रोल पंप की मशीन पर पेट्रोल देने के लिए जिस तकनीक का इस्तेमाल करते हैं उसे फ्लोमीटर के नाम से जानते हैं और लीटर में रुपयों का कन्वर्जन सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जाता है और उसकी गणना करके तेल तय किया जाता है.जब 120, 130 का तेल लेते हैं तो इसके लिए गणना का कुछ राउंड ऑफ हो जाता है जैसे 10.24 लीटर को 10.2 लीटर में बदल दिया जाता है। 

गलत लगने पर करें तुरंत ये काम 

sds

अगर पेट्रोल और डीजल भरवाते समय पर आपको कन्फ्यूजन हो रहा है तो आपको यह  जानकारी होनी चाहिए कि स्टैंडर्ड सॉफ्टवेयर के अनुसार ही तेल कंपनियां इसे संचालित करती हैं और अगर आपको लगता है कि इसकी शिकायत करनी चाहिए तो आप शिकायत भी कर सकते हैं. अगर आपको पेट्रोल कम मिल रहा है तो आप इसकी शिकायत कर सकते हैं,वहीं भारी जुर्माना लगाने का प्रावधान भी आपकी हित में होगा। 

यह भी देखें--जवान, डंकी, लियो जो ना कर पाई वो 'सालार' ने किया हासिल, अपने नाम दर्ज किया ये रिकॉर्ड...